info@vashikaranexlove.com | +91-623 9719 461

दुश्मन को वश में करने का तरीका | किसी को बर्बाद करने का काला जादू

दुश्मन शत्रु को हराने के बेहतरीन टोटके उपाय मंत्र

दुश्मन/शत्रु की समस्या के समाधान के लिए बताये गए उपाय को अमल में लेकर इससे बचा जा सकता है| “विद्वेषण” अर्थात् दो लोगों को आपस में अलग करना | “शत्रु विद्वेषण” यानि आपके दो/ कई शत्रुओं के आपसी गठजोड़ को खन्डित करना | साधारणत:किसी व्यक्ति के जीवन में दुश्मनों की कमी नहीं होती | ये दुश्मन कहीं भी और कभी भी नुकसान पहुँचा सकते हैं | यह आपके साथ भी घट सकता है | मुसीबत तब और अधिक बढ़ जाती है जब आपके शत्रु आपस में मित्र बनकर आप को हानि पहुंचाने की कोशिश कर रहे हो | आपसी मेलजोल से वे और अधिक शक्तिशाली होकर आपको और अधिक परेशानी में डाल सकते हैं | इन सबसे बचने के लिए शत्रु विद्वेषण तंत्र शाबर मंत्र का उपयोग कर आप उन शक्तियों का आपस में विद्वेषण कर अर्थात विच्छेद कराकर उनके वर्चस्व को कम कर सकते हैं |

दुश्मन को वश में करने का वशीकरण मंत्र

ज्ञानी न मपि चेतांसि देवी भगवती हिंसा ग्रहा बलादा कृष्य मोहाय महामाया परयकस्टी

विधि

  1. शनिवार को जल्दी सुबह नहाकर माँ काली के मंदिर में जाये |
  2. दो नींबू ले कर शांत जगह पर जाये |
  3. एक नींबू पर अपना नाम लिखे एवं दुसरे नींबू पर उसका जिसे आप वश में करना चाहते है |
  4. एक खाली पेपर पर 21 बार अपने शत्रु का नाम लिख दे |
  5. अब नींबू को नाम लिखे हुए पेपर पर रख दे अब 21 बार मंत्र का उच्चारण करे |
  6. अब नींबू को निकाल कर काट ले और उसके रस को पि ले |
  7. अगले दिन पेपर और दुसरे नींबू को बहते हुए पानी में बहा दे |
  8. अगले दिन फिर मंत्र का 11 बार उच्चारण करे |

इस विधि को इस तरह से करने पर आप अपने दुश्मन को अपने वश में करके उस से निजात पा सकते है | इस विधि को करने से पूर्व पंडित जी से सलाह जरुर ले |

दुश्मन से हैं परेशान होने पर आज भी लोग अपनाते हैं ये अचूक टोटके

1. दुश्मन को वश में करने के लिए आप हनुमानजी के मंदिर में हर शनिवार या मंगलवार जा सकते हैं और मंदिर में ही सुंदर काण्ड का पाठ कर सकते हैं। और हनुमान जी को प्रसाद के रूप में चढ़ाने के लिए गुड़ एवं कच्चे चने का भोग लगा सकते हैं। जिसको पाठ के समाप्त करने के बाद आप गरीब दिन दुखियारों में बांट सकते हैं। 2. दुश्मन को वश में करने के लिए शनिवार के दिन उड़द की दाल के 38 दाने और चावल के 40 दाने लेकर एक गढ्ढे में दबा दीजिए। और उसके उपर एक नींबू निचोड़ दें। और ध्यान रहें,जब नींबू निचोड़ो तो उस पर दुश्मन का नाम लिख दो।

3. दुश्मन को वश में करने के लिए आप अपने शत्रु का नाम बाथरूम के बाल्टी में मौजूद पानी से दिवाल पर या फिर जमीन पर अपने शत्रु का नाम लिखें और जब आप बाहर निकलेंगे उस वक्त आपको अपने बाएं पैर से अपने शत्रु के नाम पर आपको ठोकर मारना है 3 बार इस प्रक्रिया को रोजाना करने से आपका शत्रु आपके वश में हो जाएगा।

4. दुश्मन को वश में करने के लिए एक कागज में उसका नाम लीखिए और कागज को जला दीजिए और उसमें 2 लौंग ड़ाल दीजिए और राख को ठंडी होने के बाद एक नीबू पर उस राख को लगा दीजिए। और इसे कील से बंद कर देना हैं। 24 घंटे इसे अपने पास रखें और दूलरे दिन इसे पेड़ पर गाड़ दीजिए।

5. दुश्मन को वश में करने के लिए शनिवार की रात को 7 लौंग को अपने दाहिने हाथ में लेकर मुठठी बंद कर दीजिए और 21 बार दुश्मन का नाम लीजिए और सुबह आग में जला दीजिए। यह उपाय 7 शनिवार तक करें।

6. दुश्मन को वश में करने के लिए राई, लहसुन, नमक, सुखे कांदे को जलाना हैं। और इस धुंए को अपने सर के उपर उसको घुमाना हैं। यह टोटका कामगार सिध्द होगा।

7. दुश्मन को वश में करने के लिए एक मोर पंख लीजिए और इसमें हनुमान जी के सर पर लगें सिंदुर से मोर पंख पर दुश्मन का नाम लीखिए। और इसे अपने पूजा स्थान पर रख दीजिए। सुबह बहते पानी में बहा दीजिए।

8. दुश्मन को वश में करने के लिए रविवार के दिन मां काली की पुजा करें और कले कपड़े में मां काली का चित्र रख दें। और चित्र को उत्तर दिशा की ओर रख दें। और एक नींबू पर दुश्मन का नाम लिखें। और मां से शत्रु मुक्ति की प्रार्थना करें।

नोट :- ये मंत्र और विधि आपके दुश्मन को कमजोर करने के लिए है ना की उसे किसी तरह का कष्ट देने के लिए | वशीकरण मंत्र किसी को नुकसान पहुचाने के लिए नहीं होता |

Leave a Reply